Followers

Friday, July 5, 2013

Facebook Friends



मित्रता का दम भरता हूँ
तभी तो फेसबुक की दुनिया में
चार हजार सात सौ छयासी मित्र
हैं फ्रेंड लिस्ट में
बेशक नहीं करता सबों से संवाद
फिर भी उनके लाईक्स के क्लिक्स में
देखता रहता हूँ
सुदामा की तरह कृष्णा सा प्यार
हाँ! सच है, बचपन व जवानी में
जिन दोस्तों के दिल पर राज करता था
नहीं रहा उनके लिए खास, तभी तो
नहीं दिखते आस-पास,
न ही सपने में होते हैं करीब
तभी तो मैं ढूंढता हूँ, इन्ही
चार हजार सात सौ छयासी मित्रों के
स्माईलिस,
जिससे अकेलापन दूर करता हूँ
तभी तो फेसबुक भी कहता है
बहुत सोशल हो गया हूँ
हूँ न .......!!
~मुकेश~


Post a Comment