Followers

Monday, June 24, 2013

पतवार


झील का शांत जल
ठंडाशीतल
पर एक पत्थर या कंकड़
के गिरते ही
झंकृत कर देती है
जल तरंग संगीत
और फिर
नाविक की पतवार
जब करती है
जल को पीछे की ओर
आगे बढ़ता नाव
और पृष्ठ भूमि से
एक बंगला गीत
"जोदी तोर डाक सुने केयू
ना आसे तोबे एकला चलो रे ...... "