Followers

Wednesday, March 11, 2015

बीडी बनाते बच्चे


मेरे गाँव और उसके आसपास
बीडी बनाते दिख जाते हैं
ढेरों छोटे-छोटे बच्चे
उनकी छोटी-छोटी उँगलियाँ
बड़ी तेजी से 
भर रही होती है
तेदु के सूखे पत्ते में
तम्बाकू !
इतनी तेज तो
वो खा भी नहीं पाते रोटी
झट मोड़ कर सूखा पत्ता
भर कर सूखी तम्बाकू
बांधते हुए धागे से
सहेजते हैं, सजाते हैं
लम्बी लम्बी बीड़ियाँ !
चमकती आँखों से
बताते हैं साथी को
आज बनाई कुल
कितनी सारी बीड़ियाँ !
उन्हें कहाँ पता होता
इससे जलता है फेफड़ा
वो भी बन जाते हैं,
एक्टिव या पेस्सिव स्मोकर
बनाते हुए बीड़ियाँ!
इस फेफड़े को जलाने
की तरकीब को
बनाते बनाते
कब जल उठती है
इन मरदूदों की अंतड़ियाँ
बस लपेटते जाते हैं जीवन
या जाने बीड़ियाँ !!
.........................................................
अंततः !
मासूम बच्चे
जलती बीडी
धुंआ- जिंदगी
तेदु के पत्ते
सबको काल कवलित कर रही है बीड़ियाँ !!