जिंदगी की राहें

जिंदगी की राहें

Followers

Sunday, August 18, 2013

रिश्ता लिफाफे में, सिमटा हुआ..


ईमेल एसएमएस की दुनिया में
डाकिये ने पकड़ाया लिफाफा
29 रुपए के स्टेम्प से सुसज्जित
भेजा गया था रजिस्टर्ड पोस्ट
पते के जगह, जैसे ही दिखी
वही पुरानी घिसी पिटी लिखावट
जग गए, एक दम से एहसास
सामने आ गए, सहेजे हुए दृश्य
वो झगड़ा, बकबक, मारपीट
सब साथ ही दिखा

प्यार के छौंक से सना वो
मनभावन, अलबेला चेहरा
उसकी वो छोटी सी चोटी,
उसमे लगा काला क्लिप जो होती थी,
मेरे हाथों कभी
एक दम से आ गया सामने
उसकी फ्रॉक, उसका सैंडल
ढाई सौ ग्राम पाउडर से पूता चेहरा
खूबसूरत दिखने की ललक
एक सुरीली पंक्ति भी कानों में गूंजी
“भैया! खूबसूरत हूँ न मैं??”

हाँ! समझ गया था,
लिफाफा में था
मेरे नकचढ़ी बहना का भेजा हुआ
रेशमी धागे का बंधन
था साथ में, रोली व चन्दन
थी चिट्ठी.....
था जिसमे निवेदन
“भैया! भाभी से ही बँधवा लेना !
मिठाई भी मँगवा लेना !!”
हाँ! ये भी पता चल चुका था
आने वाला है रक्षा बंधन
आखिर भाई-बहन का प्यारा रिश्ता
दिख रहा था लिफाफे में ......
सिमटा हुआ...........!!!
~मुकेश~


31 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

लिफाफे में दिल रख कर भेजती है बहन .... जितना भी प्यार समेटना हो समेत लो .... बहुत सुंदर ।

Rewa Tibrewal said...

sach kaha....is din bahut si behne dur rehti hai apne bhaiyon say...par dil say kareeb....sundar bhavpurn rachna

वाणी गीत said...


मानो तो बहना का प्यार वरना एक धागा ही तो :)

Ranjana verma said...

बहन राखी आकर बांधे या लिफाफा में भेजे प्यार बराबर है......
बहन भाई का प्यार समय के साथ कम नहीं होता बहुत सुंदर ...

Sadhana Vaid said...

बहुत आत्मीय एवँ प्यारी सी रचना ! रक्षाबंधन की शुभकामनायें !

अनुपमा पाठक said...

कुछ रिश्ते कभी नहीं बदलते... धागों का रिश्ता भी ऐसा ही है!
सुन्दर अभिव्यक्ति!

रंजू भाटिया said...

बहुत सुन्दर राखी के इस मौके पर बहने याद आ ही जाती है..है न :)

Kailash Sharma said...

यह रिश्ता कहाँ भूल पाते हैं...बहुत भावपूर्ण रचना...

nayee dunia said...

bahut sundar ..we bhagyshaali hote hain jinke bhaai hote hai aur bhahne hote hai ....

Unknown said...

Bahut hi sundar chitran....Mukesh Bhai !

Anju (Anu) Chaudhary said...

अनोखा बंधन
अनोखा प्यार
है ये राखी का
त्यौहार
बचपन की यादें
खूब सारा लाड़-प्यार
अनोखा है आज भी
ये राखी का त्यौहार ||

इमरान अंसारी said...

दिल को छूती लाजवाब पोस्ट...... आज पहली बार आपके ब्लॉग पर आना हुआ बहुत अच्छा लगा आकर ।

आज ही आपको फॉलो कर रहा हूँ ताकि आगे भी साथ बना रहे|

कभी फुर्सत में हमारे ब्लॉग पर भी आयिए- (अरे हाँ भई, सन्डे को भी)

http://jazbaattheemotions.blogspot.in/
http://mirzagalibatribute.blogspot.in/
http://khaleelzibran.blogspot.in/
http://qalamkasipahi.blogspot.in/

एक गुज़ारिश है ...... अगर आपको कोई ब्लॉग पसंद आया हो तो कृपया उसे फॉलो करके उत्साह बढ़ाये

Rajendra kumar said...

बहुत ही सुंदर सार्थक प्रस्तुती, आभार।

Shekhar Suman said...

एक खूबसूरत से रिश्ते को निभाती एक सुन्दर से कविता...

ज्योति-कलश said...

राखी मंगल कामना ,
शुभ आशिष ,उपहार |
भैया के मन बाँधती ;
इक धागे से प्यार ...बहुत शुभ कामनाएँ !!

अरुन अनन्त said...

नमस्कार आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल मंगलवार (20 -08-2013) के चर्चा मंच -1343 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

विभा रानी श्रीवास्तव said...

आज थोड़ी उदास थी कि
कल ही मेरे तीनों भाई बरौनी मेरे पास आए
और आज इस तेतरी को छोड़ कर
काम का बहाना बना चले गए
जबकि कल राखी है ....
संतुष्टि ये हुई कि राखी हांथों से दी
डाक से भेजना नहीं पड़ा
चलो तुम हो न मेरे सामने बबुआ
बहुत-बहुत आशीर्वाद के साथ
ढ़ेरों शुभकामनायें

Pallavi saxena said...

सच ही तो है,आज का सच...और इस बार तो मेरे ऊपर 100% ठीक बैठती है यह रचना। :) यहाँ इतनी दूर रहकर मुझे भी अब यह रिश्ता लिफाफे में लिपटा हुआ सा ही लगता है। मगर भी इस लिफ़ाफ़े में बंधा प्यार अनमोल होता है। :)

Durga prasad mathur said...

भाई बहन का रिश्ता ऐसा है जिसे कलम से व्यक्त कर पाना नामुमकिन है इस प्यारी रचना की आपको बहुत बहुत बधाई !

दिल की आवाज़ said...

नौक -झौंक के बीच भी भाई-बहन का गहरा प्यार !!! उस एक धागे में बहन का प्यार, आशिर्वाद, सलामती की दुआएँ , तरक्की की कामना आदिहोती हैं
सभी को रक्षाबधंन की शुभकामनायें !!

Dr.J.P.Tiwari said...

sneh ki sukhad smriti.....bhai-bahan ka pyaar

sushila said...

"आखिर भाई-बहन का प्यारा रिश्ता
दिख रहा था लिफाफे में ......
सिमटा हुआ...........!!!"

बहुत सुंदर

अरुन अनन्त said...

आपकी यह रचना कल मंगलवार (20-08-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

मेरा मन पंछी सा said...

बहुत सुन्दर ....
रक्षा बंधन के पावन पर्व पर आपको शुभकामनाएँ..
:-)

संजय भास्‍कर said...

दिल को छूती बहुत ही सुन्दर रचना....वाह !!!

शिवनाथ कुमार said...

आखिर भाई-बहन का प्यारा रिश्ता
दिख रहा था लिफाफे में ......
सिमटा हुआ...........!!!

कितना पावन है भाई बहन का रिश्ता
रक्षाबंधन की बधाई व शुभकामनाएँ !

Madan Mohan Saxena said...

संवेदनशील रचना,बहुत ही भावपूर्ण ओर सुन्दर . रक्षा बंधन की बधाई ओर शुभकामनायें ...

sushmaa kumarri said...

बहुत ही खुबसूरत और प्यारी रचना.....

प्रवीण पाण्डेय said...

कोमल भावनाओं का त्योहार है, राखी।

sandhya jain said...

Behad khoobsurat aur payare ahsaaso se bhari rachna....sunder :-)

राजीव कुमार झा said...

दिल को छूने वाली रचना .