Followers

Tuesday, September 6, 2016

प्रेम रोग



उसने
हाई ब्लडप्रेशर की गोली एम्लो-डीपीन खाकर
की कोशिश कि
इंट्रावीनस रक्त का संचार
हो पाए सामान्य
ताकि बस
कर पाए प्रोपोज
निकाल ही दे दिल के उदगार

उसने
नहीं दी चोकलेट उसको
आखिर वो नहीं चाहता
मीठे प्यार और चोकलेट के मीठेपन का
कोकटेल
बढ़ा दे एकदम से
उसका ब्लड शुगर लेबल

डॉक्टर ने
दी है सलाह
एंजियोप्लास्टी की
पर, कहाँ मानता है दिल
चुम्बन |
रुधिर के गाढापण को
बस पिघला कर
पैदा करता है झनझनाहट
तरंग
पिघल चुका कोलेस्ट्रोल भी

प्रेम पत्र के
बाएं उपरले कोने पर
लिखा है Rx

खींचे हुए पेन से लिखा था 'प्रेमरोग'

प्रेम एंटीबायोटिक है !





2 comments:

yashoda Agrawal said...

आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" गुरुवार 08 सितम्बर 2016 को लिंक की गई है.... http://halchalwith5links.blogspot.in पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

रश्मि प्रभा... said...

http://bulletinofblog.blogspot.in/